cinema · film · greatest directors · gursimran datla · Uncategorized

A Borrowed Identity- पहचान और प्रेम का सहास्तित्व

जब आप यह फिल्म देख रहे होंगे तोह पूरा चांस है के आपको इस फिल्म की अभिनेत्री डेनियल कित्सिस से प्यार हो जाए, और फिल्म के अंत तक उस से एक घृणा सी होने लगे. किसी भी अभिनेता के लिए ऐसा करैक्टर स्केच गढ़ना बहुत मुश्किल का काम है और ऐसे ही किरदारों से भरी है ‘इरान रिक्लिस’ की इसरायली भाषा की बनी फिल्म ”A Borrowed Identity”.

Layout 1

2014 में आई ‘A borrowed identity’, ‘Dancing Arabs’ नाम के नोवल पर आधारित है और कहानी 1982 से 1995 के संधर्भ से है. यहूदियों और अरबियों के बीच के टकराव से उपजे दो प्रेमी और दो दोस्तों के बीच के संबंधों की कहानी है . दिमाग से होशेयार इयाद ( जो के अरबी है ) उसे फलस्तीन इजराइल के सबसे बड़े यहूदी बोर्डिंग स्कूल में पढने का मौका मिलता है, उसका पिता भी कभी बहुत पढ़ा लिखा था लेकिन अब वो अलगाववादी बन चूका है, इयाद को अपने पिता से शिकायत है के इतना पढ़े लिखे होने के बावजूद वो अपने जीवन स्तर को क्यूँ नहीं सुधार पाया.

यहूदी स्कूल में इयाद की मित्रता अपने जैसे ही एक लड़के जोनाथन से होती है, जो के यहूदी है और शरीरक रूप से चल फिर नहीं पाता. दोनों की मित्रता गाढ़ी होती चली जाती है और दूसरी तरफ  इयाद को अपनी ही क्लास में पढ़ती यहूदी लड़की ‘इदना’ से प्यार हो जाता है .

निर्देशक इरान रिक्लिस ने कहीं भी फिल्म को भावनात्मक ना रख कर व्यंगभरपूर रखा है. यह भी आज के दौर का विरोधाभास है के फलिस्तीनी मुद्दों पर ज्यादा फिल्में यहूदी निर्देशकों ने बनायीं. और फलिसितिनी निर्देशकों ने भी यहूदी मानसिकता को मानवीय स्तर पर समझा.
फिल्म आज के माजूदा हालातों कर भी गहरा कटाक्ष करती है. सद्दाम को पसंद ना करने वाले भी अब सद्दाम को पसंद करने लगे है हैं और चाहते हैं के अम्रीका इराक को छोड़ दे. अब उनको सद्दाम के नयूक्लेर हथियारों की याद आने लगी है.क्यूंकि उनको लगता है के शायद सद्दाम अम्रीका को भगा देने में समर्थ है। इयाद के प्रेम में ग्रिफ्तार ‘इदना’ को उसकी  माँ ने बोला है के तुम्हें कैंसर है,तुम लेस्बियन हो , कोई ऐसी खबर सुना देना पर यह खबर न सुनाना के तुम किसी अरबी से प्यार करती हो.

 

a-borrowed-identity
इयाद अपने परिवार के साथ 

मानव प्रजाति होने के नाते हमें यह सोचना होगा के हम कैसी नस्लों को पैदा कर रहे हैं जो अपने सर एक दूषित इतेहास का बोझ लिए हुए है. क्यूँ हम उन्हें भी अपने जैसा बना देना चाह रहे हैं ?

‘इदना’जो के अब यहूदी आर्मी का हिस्सा होने जा रही है,जिसके लिए इयाद ने स्कूल छोड़ दिया, पिता से भी नाता तोड़ दिया. इयाद और इदना, दोनों एक फ्लैट में हमबिस्तर होते हैं, इदना को इयाद से रिश्ता तोडना है और उसने आर्मी की भर्ती में होने वाली इंटरव्यू में किसी अरबी से शरीरक संबंधों के सवाल पर कहा था के वो किसी अरबी को नहीं जानती .
उस शेहेर में वेटर बने इयाद को अब फैसला लेना है के क्या वो यहूदी हो जाए या अरबी ही रहे
.

A Borrowed Identity OfficialTrailer (2015)

इरान रिक्लिस पिछले 30 सालों से इसरायली फलिस्तीनी संधर्ब में बेहतरीन फिल्मों का निर्माण कर रहे हैं . उनकी ‘lemon tree’ , ‘syrian bride’ ‘Zaytoun’ विश्व प्रसिद्ध फिल्में हैं जो आज भी प्रेरणास्रोत हैं .

A borrowed identity फिल्म इंसानी द्वंद्व की नायब तस्वीर है और बहुसंख्य जनगणना में अलप्संख्य लोगों के अंतर्द्वंद्व को बहुत ही सूक्ष्मता से पेश करती है .सरूपता और अस्तित्व की लड़ाई आज के दौर को पहले के समय से अलग करती है. हमारा बहुत सारा समय खुद को दूसरों के सामने साबित करने में चला जाता है,एक मानव की दुसरे मानव प्रति यह यात्ना कितनी सही है ?

– Gursimran Datla

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s